कोरोना दे गया जिंदगीभर का दर्द 32 दिन में उजड़ा परिवार पति-प्रोफेसर पत्नी और बेटे की मौत, सिर्फ बहू बची

2

कोरोना का यह भयावह चेहरा है।
महज 32 दिन में महिला प्रोफेसर
का पूरा परिवार खत्म हो गया। सिर्फ
11 माह पहले आई बहू ही बची है।
इंद्रलोक कॉलोनी निवासी डॉ. प्रियंका
जैन, पति उमेश जैन और निजी
यूनिवर्सिटी में असिस्टेंट रजिस्ट्रार
बेटा अमन जैन जिंदगी की जंग हार
गए। डॉ. प्रियंका ने हाल ही में निजी
अस्पताल में दम तोड़ दिया, जबकि
बेटे की पिछले सप्ताह और पति की
दो सप्ताह पहले मौत हो गई।
पिछले माह परिवार के दो सदस्य
एक उठावने में शामिल हुए थे।
उसके कुछ ही दिन बाद पहले डॉ.
.
प्रियंका की तबीयत बिगड़ी। उन्हें
निजी अस्पताल में भर्ती करवाया
गया। कुछ दिन बाद पति बीमार
हो गए। इस बीच बेटे की तबीयत
भी बिगड़ गई। इसके बाद एक-एक
कर तीनों कोरोना से हार गए। अब
परिवार में सिर्फ बहू अवनी बची
है। अवनी के पिता अमित जोशी के
अनुसार 11 माह पहले ही बेटी की
शादी अमन से हुई थी। दोनों एक ही
संस्थान में जॉब करते थे। पता नहीं
था कि कुछ ही दिनों में हंसते-खेलते
परिवार की खुशियां यूं छिन जाएंगी।